कोरोना- 10 दिन पहले ही केंद्र किया गया था अ'- लर्ट, NITI आयोग सदस्य ने की थी गुजारिश

ऑक्सीजन का प्रबंध कर लीजिए, क्योंकि 20 अप्रैल तक दैनिक सं'- क्रमणों की संख्या तीन लाख और अप्रैल के अंत तक पांच लाख होगी।” यह बात 10 दिन पहले नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कही थी, जो कि उच्चाधिकार प्राप्त अधिकारियों के समूह के मुखिया हैं। डॉ पाल ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अधिकारियों के समक्ष चेतावनी भी दी थी कि कोविड का रूप और भ'- यंकर होने वाला है और देश को ज्यादा मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन की ज़रूरत पड़ेगी।

उन्होंने कहा था कि दैनिक सं'- क्रमणों की संख्या छह लाख भी जा सकती है। ऐसी असाधारण स्थिति में प्लान बी के तहत असाधारण उपाय करने होंगे। एक बैठक के दौरान कहा गया कि कोविड के कारण बदतर स्थिति और उसके कारण पैदा हुई ऑक्सीजन की मांग की जानकारी एक अन्य उच्चाधिकार प्राप्त समुह (ग्रुप-2) को दी जाए। ऑक्सीजन और चिकित्सकीय उपकरणों की व्यवस्था का जिम्मा इसी समूह के पास है।

इसके मुखिया औद्योगिक विकास विभाग के सचिव डॉ गुरुप्रसाद महापात्र हैं। सूत्रों का कहना है कि अप्रैल के पहले पखवाड़े में हुई अधिकारियों के समूह की बैठक में ही डॉ पॉल ने सरकार से अनुरोध किया था कि वह प्लान बी को भी खं'गाले। प्लान बी क्या है? यह नहीं पता चल सका।

Popular posts from this blog

बंगाल में ज़ी न्यूज के पत्रकारों को लोगों ने ला'- ठियों से पी'- टा, देखें वायरल वीडियो

खुद को सन्यासी बताने वाले आदित्यनाथ का चेहरा आया सामने! कैमरामैन को दी गा'- ली, देखें वीडियो

कोरोनाः मोदी इ'स्तीफा दो’ की टि्वटर पर उठी मांग, PM को ‘नीरो’ बता चंद घंटों में कर दिए गए 2 लाख से अधिक ट्वीट्स