जो मोदी सरकार 60 अन्नदाता की श'- हादत से श'र्मिंदा नहीं हुई वो अब ट्रैक्टर रैली से श'र्मिंदा हो रही है

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों के खि'- लाफ कल सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अगले आदेश तक तीनों कृषि कानूनों पर रोक लगा दी गई है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद किसानों ने इस आं'- दोलन को रोकने से इंकार कर दिया है। आज किसान आं'- दोलन का 49 वां दिन चल रहा है। दरअसल बीते डेढ़ महीने से चल रहे इस किसान आंदोलन में अब तक 60 से ज्यादा किसानों ने अपनी गवां दी है।

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड में किसान डटकर अपने अधिकारों के लिए ल'- ड़ रहे हैं। दरअसल किसान संगठनों द्वारा 26 जनवरी के दिन प्रस्तावित ट्रैक्टर मार्च निकाले जाने पर रोक लगाने के लिए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में केंद्र सरकार ने कहा है कि गणतंत्र दिवस के समारोह को बा'- धित करने के लिए इस तरह के मार्च निकाले जाने से देश को श'- र्मिंदगी उठानी पड़ सकती है।

गौरतलब है कि वि'- पक्षी दलों ने किसान आं'- दोलन में रहे किसानों को लेकर पहले भी कई बार चिंता जाहिर की है। राहुल गांधी भाजपा द्वारा लाई गई इन दिनों कृषि कानूनों के वि'- रोध में पहले से ही किसानों का पक्ष लेते रहे हैं। इसके साथ ही किसान आं'- दोलनकारियों ने लोहड़ी के मौके पर नहीं कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर वि'- रोध जताने का ऐलान किया है। इसके साथ ही किसान संगठनों का कहना है कि वह सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमेटी के समक्ष पेश नहीं होंगे। यह सरकार की एक चाल है। जिससे किसान आं'- दोलन को रोकने की कोशिश की जा रही है।

Popular posts from this blog

बाबा रामदेव की नई नौटंकी हाथी पर चढ़कर योगा कर रहे थे, गि'- रे नीचे कराई फजीहत - वीडियो वायरल

लाईव डिबेट में संबित पात्रा ने फिर करायी अपनी बेइज्जती अभिनेत्री ने कहा हराम*- खोर: देखे वीडियो

अनुष्का शर्मा पर सुनील गावस्कर के कॉमेंट पर कंगना रनौत का आया बयान कहा- 'हराम*- खोर' बयान...