पीएम मोदी के बनारस में दिव्यांगों का स्कूल आखिर क्यों बंद हो रहा है..

दिव्यांग यह संबोधन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निकाला| उनकी लोकप्रियता का परिणाम हुआ कि यह शब्द सबने स्वीकार कर लिया| लेकिन हम प्रधानमंत्री और ‘दिव्यांग’ का जिक्र क्यों कर रहे हैं?  खबर है बनारस से. यह प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र भी है| यहां दृष्टिबाधित छात्रों के लिए एक स्कूल है| 
श्री हनुमान प्रसाद पोद्दार अंध विद्यालय. उसे अब 9वीं से 12वीं क्लास तक बंद किया जा रहा| कारण बताया गया है आर्थिक तंग| यानी स्कूल का ट्रस्ट अब उसका खर्च वहन नहीं कर पा रहा| फिलहाल 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स के घर एक चिट्ठी भेज कर यह सूचना दे दी गई है|
 
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिव्यांग नाम देकर दिव्यांग जनों को एक नई पहचान दी है जिसे आने वाली पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी। इससे पहले इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द 'अपंग' उनकी उपेक्षा और अपमान का परिचायक है। उन्होंने यह बात  गांधीनगर के कलोल में आयोजित 'समाजिक अधिकारिता शिविर' में वरिष्ठ नागरिकों को और दिव्यांग को विभिन्न शारीरिक सहायता और सहायक- डिवाइस वितरण समारोह में कहीं।

परंतु अब देखने वाली बात यह है कि फंड की कमी के कारण क्या यह स्कूल को सचमुच में बंद कर दिया जाएगा या इसकी मदद की जाएगी|

Popular posts from this blog

दूरदर्शन चैनल की एंकर सलमा सुल्ताना का ये 1984 का विडियो आज के एंकरों के लिए सबक और मिशाल

लाईव डिबेट में संबित पात्रा ने फिर करायी अपनी बेइज्जती अभिनेत्री ने कहा हराम*- खोर: देखे वीडियो

कंगना रनौत के बिगड़े बोल जया बच्चन पर कहा- हीरो के साथ सोने के बाद मिलता...